Breakfast में भूलकर भी न खाएं Carbohydrate Rich Foods, वरना इन नुकसान के लिए हो जाएं तैयार

how-carbohydrate-rich-foods-affects-your-body-if-you-eat-during-breakfast-avoid-carbs-in-the-morning

May 25, 2023 - 07:45
Breakfast में भूलकर भी न खाएं Carbohydrate Rich Foods, वरना इन नुकसान के लिए हो जाएं तैयार
how-carbohydrate-rich-foods-affects-your-body-if-you-eat-during-breakfast-avoid-carbs-in-the-morning

Healthy Breakfast Tips: ऐसा कहा जाता है कि सुबह की शुरुआत अगर अच्छी नहीं हुई तो इसका असर पूरे दिन रहता है, यही बात नाश्ते के लिए भी कही जाती है, इसलिए ब्रेकफास्ट जितना हेल्दी हो उतना ही अच्छा है. 

Why You Should Avoid Carbs In the Morning: तमाम न्यूट्रिएंट्स की तरह कार्बोहाइड्रेट का सेवन हमारे शरीर के लिए जरूरी है, लेकिन इसे सीमित मात्रा में और सही वक्त पर खाना चाहिए वरना फायदे से ज्यादा शरीर को नुकसान हो जाएगा. आमतौर पर हेल्थ एक्सपर्ट्स ये सलाह देते हैं कि हमें ब्रेकफास्ट में कार्ब्स बेस्ड फूड्स से बचना चाहिए क्योंकि ऐसा करने से कोर्टिसोल और डोपामाइनजैसे केमिकल रिलीज हो सकते हैं जिससे आपको सुस्ती और आलस का अहसास होगा. नाश्ते को जितना हेल्दी बनाए रखेंगे उतना ही ये शरीर के लिए फायदेमंद होगा और दिनभर एनर्जी बरकरार रखने में मदद मिलेगी. आइए जानते हैं कि हमें सुबह के वक्त कार्ब्स वाले फूड्स क्यों नहीं खाने चाहिए.www.jaimamart.com

नाश्ते में क्यों न खाएं कार्ब्स?

इस बात में कोई शक नहीं कि हमे कार्ब्स की जरूरत पड़ती है ताकि शरीर को सही तरीके से पोषण मिल सके, लेकिन ब्रेकफास्ट में इन्हें खाने से बचना चाहिए क्यों ऐसा करने से कई तरह के नुकसान हो सकते हैं, जैसे-

1. बढ़ जाएगा वजन
ब्रेकफास्ट में कार्बोहाइड्रेट (Carbohydrate) का सेवन इंसुलिन सेंसिटिविटी को कम कर देता है जिससे पेट और कमर के आसपास चर्बी जमा होने लगती है. अगर आप वजन कम करने की सोच रहे हैं तो इस बात पर जरूर गौर करें.

2. बढ़ जाती है भूख
अगर सुबह के वक्त आप कार्ब्स खाएंगे तो  घ्रेलिन रिएक्शन में इजाफा हो सकता है, ये एक हंगर हॉर्मोन हो है जो हमारा पेट रिलीज करता है और फिर ब्रेन को खाना खाने का सिग्नल देता है. ऐसा करने से आपको जल्दी भूख लगेगी और कम ड्यूरेशन में खाने की वजह से वजन भी बढ़ सकता है

3. मेंटल हेल्थ पर असर
कार्बोहाइड्रेट वाला नाश्ता करने से मेंटल हेल्थ पर भी बुरा असर पड़ता है, क्योंकि इससे लेप्टिन सेंसिटिविटी कम हो जाती है, जिसकी वजह से आप कई काम में संतुष्टि महसूस नहीं करते हैं, साथ आपके सभी सेंसेज भी एफेक्ट होने लगते