आंगनबाड़ी कार्यकर्ता के खिलाफ FIR फर्जी दस्तावेजों के आधार पर पाई थी नौकरी, बर्खास्त होने के बाद धोखाधड़ी का मामला दर्ज

Dec 10, 2021 - 09:04
आंगनबाड़ी कार्यकर्ता के खिलाफ FIR फर्जी दस्तावेजों के आधार पर पाई थी नौकरी, बर्खास्त होने के बाद धोखाधड़ी का मामला दर्ज

भरतपुर जिले के बयाना में एक आंगनबाड़ी कार्यकर्ता फर्जी दस्तावेजों के आधार पर नौकरी कर रही थी। महिला की शिकायत होने के बाद महिला को बर्खास्त कर दिया गया है।

CDPO सत्यप्रकाश शुक्ला ने बताया की महिला बाल विकास विभाग के उपनिदेशक ने 5 अक्टूबर 2020 को आंगनबाड़ी केंद्र लोहटवाड़ा में एक खाली जगह के लिए भर्ती निकाली थी। 17 फ़रवरी 2021 को सभी अभ्यर्थियों का चयन किया गया। लोहटवाड़ा निवासी राजबाला गुजर अव्वल रहीं।

26 जून 2021 को राजबाला ने पदभार संभाला। ड्यूटी के कुछ दिनों बाद ही राजबाला के खिलाफ संपर्क पोर्टल पर शिकायत दर्ज हो गई। जिसमें बताया गया कि राजबाला का RSCIT का कंप्यूटर डिप्लोमा फर्जी है। जिसके बाद राजबाला के दस्तावेजों की जांच करवाई गई। जांच में दस्तावेज फर्जी पाए जाने पर उन्हें बर्खास्त कर दिया गया। आज CDPO ने राजबाला के खिलाफ धोखाधड़ी कर नौकरी पाने का मामला बयाना थाने में दर्ज करवाया।

फिलहाल पुलिस ने राजबाला के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। धोखाधड़ी के मामले को लेकर विभाग की तरफ से पुलिस को फर्जी दस्तावेजों के सबूत भी दे दिए गए हैं।