दूसरी के प्रेम में पति बना हैवान: वैलेंटाइन डे पर प्यार करते-करते बीवी को मार डाला, बोला-नसरीन न होती तो मैं..

Feb 19, 2023 - 09:17
दूसरी के प्रेम में पति बना हैवान: वैलेंटाइन डे पर प्यार करते-करते बीवी को मार डाला, बोला-नसरीन न होती तो मैं..
accused-husband-killed-his-wife-says-if-nasreen-was-not-there-i-would-have-married-my-girlfriend

बरेली में झोलाछाप फारूख आलम ने पत्नी की हत्या का गुनाह कबूल कर लिया। शनिवार को उसे जेल भेज दिया गया। एसएसपी के सामने फारूक ने कहा कि रिश्तेदार युवती ने उससे कहा था कि नसरीन न होती तो वह उससे निकाह कर लेती, इसलिए बीवी को मार डाला। पदारथपुर में 13-14 फरवरी की रात नसरीन की हत्या से पहले झोलाछाप फारूक आलम ने पूरी योजना बनाई थी। मां को नशे का इंजेक्शन व बच्चों को नशे की गोलियां दीं। वैलेंटाइन डे का फायदा उठाया। वह नसरीन से प्यार भरी बातें करने लगा और बातों ही बातों में गला घोंटकर उसकी हत्या कर दी। 

 फारूख ने स्वीकार किया कि नसरीन को रास्ते से हटाकर ही रिश्तेदार युवती से उसका निकाह संभव हो सकता था। हत्या से पहले उसने नसरीन से पूछा कि वह उससे कितना प्यार करती है। नसरीन ने कहा कि हद से ज्यादा। तब उसने पूछा कि क्या वह उसके लिए जान दे सकती है।नसरीन ने हां कहा तो फारूख ने उसके मुंह में उसका दुपट्टा ठूंस दिया। नसरीन इसे मजाक समझती रही, पर जब सास बंद हुई तो वह छटपटाने लगी। तब उसने नसरीन के दुपट्टे से ही उसका गला दबा दिया। फारूख ने घटना को डकैती का रूप देने के लिए जेवर सेफ से निकालकर रसोई में छिपा दिए थे, जिसे पुलिस ने बरामद कर लिए।

दरोगा तुरंत मौके पर जाते तो खुल जाता खेल
घटना की जानकारी रात दो बजे फारूख के साले ने दरोगा रामऔतार व यूपी 112 को दी। पीआरवी तो घटनास्थल तक जाकर लौट आई, पर दरोगा कॉल रिसीव करके भी सो गए। दरोगा व अधिकारी सुबह छह बजे मौके पर पहुंचे। अधिकारियों का मानना था कि दरोगा सूचना पर तत्काल पहुंचते तो फारूख का खेल खुल जाता। लापरवाही बरतने पर रामऔतार को निलंबित कर दिया गया था।फारूख झोलाछाप है। उसने हत्या की जो कहानी बनाई, वह फर्जी निकली। पुलिस और एसओजी ने सूझबूझ से घटना खोल दी। टीम को 25 हजार रुपये का इनाम दिया जा रहा है।

 बरेली के बिथरी चैनपुर थाना क्षेत्र के गांव पदारथपुर में 13 फरवरी की रात नसरीन की हत्या उसके पति झोलाछाप फारूख आलम ने की थी। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार करने के बाद शनिवार को हत्याकांड का खुलासा कर दिया। एसएसपी अखिलेश चौरसिया के सामने फारूख आलम ने कबूल किया कि उसने रिश्तेदार युवती से निकाह करने की खातिर पत्नी की हत्या की थी।

उसने पत्नी से पूछा था कि क्या वह उसके लिए जान दे सकती है। इसके बाद नसरीन ने जब हां कहा। इसके बाद उसने नसरीन के मुंह में दुपट्टा ठूंस दिया और सास बंद कर हल्के से उसका गला दबा दिया। इसके बाद आरोपी ने खुद को घायल कर डकैती का ड्रामा रचा था। लूट या डकैती जैसा कोई मामला ही नहीं था। पुलिस ने छिपाए गए जेवर पुलिस ने बरामद कर लिए हैं। खुलासे के बाद पुलिस ने आरोपी फारुख को जेल भेज दिया है।